२३ को नकोदर के कविसम्मेलन में रहा.. 
२६ को सूर जयंती के उपलक्ष में हो रहे कविसम्मेलन में 
फरीदाबाद रहूँगा.. 
आज यहीं मस्ती मारते हैं..
आप सब के साथ जाल-मंच  पर....

मस्त रहो भई मस्ती में
महँगी में या सस्ती में

देख इलेक्शन सर पे है
बँटा है राशन बस्ती में

ग़ालिब तो हम नहीं मगर
रहते फाकामस्ती में

अच्छा है कुछ फर्क रहे
अपनी-अपनी हस्ती में
--योगेन्द्र मौदगिल
9466202099

14 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

बहुत खूब, हम अपने में मस्त पड़े हैं।

डा. अरुणा कपूर. said...

वाह!...आप को हंमेशा ही खूब कहते है!

anju(anu) choudhary said...

बढिया कहा भाई जी ...

डॉ टी एस दराल said...

ये मस्ती बनी रहे ।

singhSDM said...

मस्त रहिये..... मस्त रहना आसान काम भी तो नहीं ....!

आशा जोगळेकर said...

अपनी मस्ती में रहना ही बढिया है ।

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

:)

Shah Nawaz said...

ब्लॉग बुलेटिन में एक बार फिर से हाज़िर हुआ हूँ, एक नए बुलेटिन "जिंदगी की जद्दोजहद और ब्लॉग बुलेटिन" लेकर, जिसमें आपकी पोस्ट की भी चर्चा है.

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

Andaman holiday packages said...

I was very encouraged to find this site. I wanted to thank you for this special read. I definitely savored every little bit of it and I have bookmarked you to check out new stuff you post.

Andaman Holidays said...

Good efforts. All the best for future posts. I have bookmarked you. Well done. I read and like this post. Thanks.

Andaman Packages said...

Thanks for showing up such fabulous information. I have bookmarked you and will remain in line with your new posts. I like this post, keep writing and give informative post...!

andaman honeymoon package said...

The post is very informative. It is a pleasure reading it. I have also bookmarked you for checking out new posts.

andaman tour booking said...

Thanks for writing in such an encouraging post. I had a glimpse of it and couldn’t stop reading till I finished. I have already bookmarked you.